Home / ताजा खबरे / KYC के बहाने ठग लिए एक लाख रूपए

KYC के बहाने ठग लिए एक लाख रूपए

सतीश के फोन पर किसी ने KYC के बहाने फ़ोन किया फिर  एक  ऐप डाउनलोड करवाया। फिर उसने ऑनलाइन पेमेंट से जुड़े एक ऐप में दस रुपये का लेन-देन करने के लिए कहा। सतीश के खाते में दस रुपये आते ही बैंक से 24 हजार रुपये निकाले जाने का संदेश आया। रुपये किसी रीता नाम की महिला के खाते में ट्रांसफर हुए थे।

द्वारका नॉर्थ थाना क्षेत्र में फोन पर ऐप डाउनलोड कराने के बाद एक व्यक्ति से ठगी का मामला सामने आया है। ठग ने एक ऐप की केवाईसी (नो योर कस्टमर) करवाने के बहाने पीड़ित से संपर्क किया और फिर खाते से करीब एक लाख रुपये निकाल लिए। रुपये वापस करने की बात कहने पर आरोपी पीड़ित से दूसरे बैंक खाते की जानकारी मांगने लगा।

काकरौली के सतीश चंद्र ने बुधवार को द्वारका नॉर्थ थाने में ठगी की शिकायत की। उन्होंने बताया कि उनका एक निजी बैंक में खाता है। बुधवार को उनके मोबाइल पर एक ऐप कंपनी की ओर से केवाईसी कराने का एक मेसेज आया। करीब चार बजे दीपक शर्मा नाम के व्यक्ति ने फोन किया। उसने केवाईसी करने की बात कही और फिर पीड़ित को ऐप पर लाइव रहने के लिए कहा।

आरोपी जैसे-जैसे बता गया सतीश जानकारी ऐप पर डालते रहे। आरोपी ने सतीश के फोन में एक और ऐप डाउनलोड करवाया। फिर उसने ऑनलाइन पेमेंट से जुड़े एक ऐप में दस रुपये का लेन-देन करने के लिए कहा। सतीश के खाते में दस रुपये आते ही बैंक से 24 हजार रुपये निकाले जाने का संदेश आया। रुपये किसी रीता नाम की महिला के खाते में ट्रांसफर हुए थे।

रुपये निकलने की बात कहने पर उसने बताया कि ऐसा नहीं हो सकता है। फिर कुछ देर बाद उसने सतीश को अपना किसी दूसरे बैंक खाते की जानकारी देने के लिए कहा। सतीश को शक हो गया और उसने खाते की जानकारी नहीं दी और उसपर पैसे वापस करने का दवाब बनाया। आरोपी इस जिद पर अड़ गया कि जब तक वह दूसरा खाते की जानकारी नहीं देता, पैसा वापस नहीं होगा।

फिर बैंक से लगातार रुपये निकलने के संदेश आने लगे। सतीश के खाते से करीब एक लाख रुपये निकल गए। देर शाम आरोपी का फिर फोन आया और सतीश ने उसे रुपये वापस करने के लिए कहा तो उसने फिर से दूसरे बैंक खाते की जानकारी मांगी और फोन काट दिया। सतीश ने घटना की शिकायत बैंक और पुलिस से की। पुलिस मामला दर्ज कर जांच में जुट गयी है।

About Chanakya Entertainment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *